RRB NTPC और Group D भर्ती में लगाई एक ही फोटो, एक में स्वीकारी, दूसरी में खारिज

रेलवे की ग्रुप डी परीक्षा में हजारों फॉर्म रिजेक्ट होने पर अभ्यर्थी फिर भड़के हैं। अभ्यर्थियों का दावा है कि एनटीपीसी (नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी) और ग्रुप डी में एक फोटो और सिग्नेचर वाले फॉर्म भरे गए। एनटीपीसी में फॉर्म स्वीकार कर लिया गया, जबकि वही फोटो और सिग्नेचर वाले फॉर्म ग्रुप डी में निरस्त कर दिए गए। आरआरबी (रेलवे भर्ती बोर्ड) इलाहाबाद ने एनटीपीसी परीक्षा के लिए भरे गए फॉर्म की जांच करने के लिए अपनी साइट 21 सितंबर को खोली। अभ्यर्थियों ने साइट पर एनटीपीसी का फॉर्म सही मिलने के बाद ग्रुप डी के फॉर्म निरस्त होने पर सवाल खड़ा किया है। रेलवे की दोनों परीक्षाओं में एक ही फोटो लगाई गई थी।

रेलवे की दोनों परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले राकेश कुमार यादव ने बताया कि एनटीपीसी के भी आवेदन निरस्त हुए हैं। एनटीपीसी का फॉर्म निरस्त होने के कई कारण आरआरबी ने बताया है। अभ्यर्थी आरआरबी के बताए कारणों से संतुष्ट हैं। ग्रुप डी में सिर्फ फोटो और हस्ताक्षर के कारण आवेदन निरस्त होने का कारण समझ से परे है।

RRB NTPC Exam 2020 : रेलवे एनटीपीसी भर्ती का एप्लीकेशन स्टेटस का लिंक एक्टिवेट, ऐसे चेक करें स्टेट्स

हजारों फॉर्म किए गए थे दुरुस्त 
पिछले साल ग्रुप डी की परीक्षा में देशभर से साढ़े चार लाख से अधिक फॉर्म निरस्त होने की जानकारी होने पर अभ्यर्थियों ने विरोध किया। नई दिल्ली में धरना-प्रदर्शन किया तो दोबारा फॉर्मों की जांच की गई। जांच में 40 हजार से अधिक फॉर्म दुरुस्त किए गए। अधिकारियों के मुताबिक कंप्यूटर की गलती से फॉर्म निरस्त किए गए थे। 

इलाहाबाद आरआरबी
आवेदन, पद, फॉर्म निरस्त एक नजर में 

एनटीपीसी 
आवेदन आए : 18 लाख 11 हजार 361 
कुल पद : 4730 
फॉर्म निरस्त : 3942 

ग्रुप डी 
आवेदन : नौ लाख 11 हजार 82 
कुल पद : 4730 
फॉर्म निरस्त : 3500 

NRA CET Date : मोदी सरकार ने बताया सरकारी नौकरियों के लिए कब होगा पहला सीईटी, RRB , IBPS और SSC अभ्यर्थी हो जाएं तैयार

कमेटी ने की ग्रुप डी के फॉर्मों की जांच : चेयरमैन 
आरआरबी इलाहाबाद के चेयरमैन आरए जमाली का कहना है कि ग्रुप डी का आवेदन आरआरसी (रेलवे भर्ती प्रकोष्ठ) से मांगा गया था। परीक्षा आरआरबी कराएगा। ग्रुप डी के फॉर्मों की स्क्रूटनी उच्चस्तरीय कमेटी ने की। चेयरमैन के अनुसार 2018 भी ग्रुप डी के फॉर्म रिजेक्ट होने पर तमाम आपत्तियां आईं। उस समय समीक्षा के बाद फॉर्म दुरुस्त कराए गए थे।

Source link

Spread the love

Leave a Comment