बिहार चुनाव: दो और पूर्व डीजी लड़ सकते हैं इलेक्शन, एक ने पिछले महीने ही थामा ज़ीयू का दामन

बिहार में 243 सीटों के लिए अक्टूबर-नवंबर में विधान सभा चुनाव होने हैं।

नई दिल्ली:

बिहार के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गुप्तेश्वर पांडेय (गुप्तेश्वर पांडे) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने स्वैच्छिक संकल्प ली है। सरकार ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया उनकी जगह एसके सिंघल को डीजीपी का समर्थकों ने दी है। माना जा रहा है कि गुप्तेश्वर पांडेय बक्सर से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं। पिछले महीने पांडेय तब सुर्खियों में थे, जब उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में प्रधान चक्रवर्ती पर औकात से जुड़ी टिप्पणियां की थी। गुप्तेश्वर पहले पूर्व डीजी (महानिदेशक) नहीं है जो रिटायरमेंट के बाद सियासी पारी खेलने जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें

31 जुलाई को डीजी (पुलिस भवन निर्माण) पद से रिटायर हुईं 1987 बार के आईपीएस अफसर सुनील कुमार ने भी राजनीति की राह ली। उन्होंने पिछले महीने 29 अगस्त को ज़ीयू की कड़ी भी ले ली। माना जा रहा है कि सुनील कुमार गोपालगंज से ज़ीयू टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। वह तेज-तर्रार दलित अधिकारी रहे हैं। उन्हें सीएम नीतीश कुमार के करीबी नेता लल्लन सिंह ने पार्टी की सदस्यता दिलाई।

प्रधान चक्रवर्ती की ‘औकात’ वाला बयान देने वाले बिहार के डीजीपी ने छोड़ी पुलिस की नौकरी, अब बनेंगे नेता

सुनील कुमार के पिता भी बिहार विधानसभा के सदस्य रहे हैं। उनके भाई अनिल कुमार वर्तमान में गोपालगंज से ही कांग्रेस के विधायक हैं। सुनील कुमार के अलावा नीतीश के करीबी एक और बड़े पुलिस अधिकारी और पूर्व डीजीपी के एस द्विवेदी के भी चुनाव लड़ने की अटकलें तेज हैं। ये तीनों डीजी रैंक के अधिकारी सीएम नीतीश की पसंद हैं। द्विवेदी गुप्तेश्वर पांडेय से पहले राज्य के डीजीपी थे।

बिहार चुनाव: भाजपा-जदयू आसान नहीं सीटों का बंटवारा, 30 से ज्यादा सीटों पर भारी ‘तीर’, 50 सीटें

केएस द्विवेदी के भागलपुर से चुनाव लड़ने की अटकलें हैं। द्विवेदी अपने युवा दिनों में भागलपुर में एसपी रह चुके हैं और भागलपुर में 1990 के दशक में हुए दंगें को शांत करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका थी। माना जा रहा है कि भागलपुर शहरी या उसके आस-पास की किसी विधान सभा सीट से द्विवेदी चुनाव लड़ सकते हैं। वर्तमान में द्विवेदी बिहार राज्य कर्मचारी चयन आयोग के अध्यक्ष हैं।

1987 सलाखों के आईपीएस अधिकारी रहे गुप्तेश्वर पांडेय इससे पहले भी चुनाव लड़ने के लिए इस्तीफा दे चुके हैं। वर्ष 2009 में लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने वीआरएस का आवेदन दिया था लेकिन सरकार ने उनके आवेदन को नामंजूर कर दिया था।

वीडियो: बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडे ने लिया वीआरएस, लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

Source link

Spread the love

Leave a Comment