गूगल ने एंड्रॉयड ऐप्स के साथ जोड़ा अपना वॉयस असिस्टेंट सिस्टम, अब बोलने भर से काम करेंगे ऐप्स

[ad_1]

नई दिल्लीfour मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
गूगल ने एंड्रॉयड ऐप्स के साथ जोड़ा अपना वॉयस असिस्टेंट सिस्टम, अब बोलने भर से काम करेंगे ऐप्स MediaWinii 27/02/2021

आप सोशल मीडिया पर समाचारों को चेक करने, स्पॉटिफाई पर प्लेलिस्ट ढूंढने, स्नैपचैट पर किसी सेलिब्रिटी की स्टोरी खोलने के लिए गूगल से कह सकते हैं वो भी बस अब अपने आवाज के साथ।

  • गूगल ने यह फीचर प्ले-स्टोर पर मौजूद लगभग 30 टॉप ऐप्स में जोड़ा है।
  • असिस्टेंट का उपयोग करके सामान्य कामों के लिए शॉर्टकट शब्द भी बना सकेंगे।

गूगल अपने वॉयस असिस्टेंट सिस्टम को ज्यादा से ज्यादा उपयोगी बनाने के लिए रोज नए-नए इनोवेशन कर रही है। कंपनी ने अब अपने वॉयस असिस्टेंट सिस्टम को एंड्रॉयड ऐप्स के साथ जोड़ दिया है। यानी अब सिर्फ बोलने भर से ऐप्स से काम करना शुरू कर देंगे। कंपनी ने कहा कि अब आप ‘हे गूगल’ बोलकर न सिर्फ ऐप्स खोल पाएंगे बल्कि उनसे काम भी करवा सकेंगे। गूगल ने यह फीचर प्ले-स्टोर पर मौजूद लगभग 30 टॉप ऐप्स में जोड़ा है, जो विश्व स्तर पर अंग्रेजी में उपलब्ध हैं, और जल्द ही कंपनी इस फीचर को अन्य ऐप्स में जोड़ने की योजना बना रही है। कंपनी ने इस फीचर को रोल-आउट करना शुरू कर दिया है। गूगल ने असिस्टेंट में दो नई अंग्रेजी आवाजें भी जोड़ी हैं और इसकी आवाज को अधिक नैचुरल बनाने के लिए इसमें एक बेहतर प्रोसोडी मॉडल का उपयोग किया है।

बोलकर कर सकेंगे ये सारे काम
एंड्रॉयड ऐप के साथ गूगल असिस्टेंट को इंटीग्रेट कर दिया गया है। यानी अब आप केवल बोलने भर से गाने सुन सकते हैं, सोशल मीडिया पर पोस्ट कर सकते हैं, फूड ऑर्डर कर सकते हैं, कैब के लिए कॉल करने के साथ ही अन्य जरूरी काम भी कर सकेंगे। इतना ही नहीं अब आप असिस्टेंट का उपयोग करके अपने सबसे सामान्य कामों के लिए शॉर्टकट शब्द भी कस्टमाइज कर सकते हैं।

वॉयस असिस्टेंट को अधिक उपयोगी बनाना है

  • गूगल के प्रोडक्ट मैनेजर एडम कोयम्बरा ने कहा, “लोग अब ऐप्स को खोलने और उसमें सर्चिंग करने के अलावा भी ऐप्स के साथ बहुत कुछ करते हैं, और हम उन कामों को वॉयस कमांड से सक्षम बनाना चाहते हैं। आप उन दो नए नैचुरल साउंड के सैंपल को सुन सकते हैं, जिसे गूगल असिस्टेंट में जोड़ा गया है।
  • कंपनी ने गूगल असिस्टेंट डेवलपर्स डे के दौरान इन नए फीचर्स को पेश किया है। कंपनी ने कहा कि वह एंड्रॉयड और ऐप्स को अधिक उपयोगी और सुविधाजनक बनाना चाहती है। उन्होंने आगे कहा कि नए ऐप एक्शन बिल्ट-इन इंटेंट, एंड्रॉयड डेवलपर्स को आसानी से गूगल असिस्टेंट को अपने ऐप के साथ इंटीग्रेट करने में मदद करेंगे, और यूजर्स को आसानी से एंड्रॉयड ऐप के साथ डिस्कवर और इंगेज करने में भी मदद करेंगे।
  • आप ट्विटर पर समाचारों को चेक करने, स्पॉटिफाई पर प्ले-लिस्ट ढूंढने, नाइकी रन क्लब के साथ अपनी दौड़ शुरू करने, डिस्कोर्ड पर किसी को मैसेज भेजने, स्नैपचैट पर किसी सेलिब्रिटी की स्टोरी खोलने के लिए गूगल से कह सकते हैं वो भी बस अब अपनी आवाज के साथ।

[ad_2]

Source link

Spread the love

Leave a Comment